Sunday, February 15, 2009

जय श्री राम



ये फोटो राउरकेला का है जहाँ १४ फरवरी को कुछ बजरंगी गुंडे (पुलिस की मौजूदगी में) एक प्रेमी जोड़े को राखी बाँधने पर मजबूर कर रहे हैं। वैसे मौजूद बजरंगबली भी हैं पर फोटो में उनके कच्छा और टांगें ही (पूँछ भी) नज़र आ रही हैंै।
माइथोलजी के मुताबिक बजरंग बली तब की श्री राम सेना के प्रमुख सेनापति थे ै। कहते हैं कि लंगोट का पक्का रहने की ठान ली थी पर आखिरकार एक मछली के बेटे के बाप बन गए थे। आज की श्री राम सेना के कुंठा के मारे बजरंगी इन दिनों ऐसे कारनामे कर रहे हैं।
(फोटो द हिन्दू से)

11 comments:

दिवाकर प्रताप सिंह said...

हमारे देश में प्रत्येक नागरिक अपने-अपने ढंग से उत्सव मनाने के लिए पूर्ण स्वतंत्र हैं। सांस्कृतिक-क्षरण या धार्मिक कट्टरता की आड़ में संविधान प्रदत्त "अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता" का हनन नहीं होना चाहिए। "वैलेंटाइन-डे" का विरोध करने के नाम पर सरे आम अराजकता फैलाने और 'ला-आर्डर' अपने हाथ में लेने वालों पर रासुका (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) के अंतर्गत कठोर कार्यवाही की जानी चाहिए जिससे अहसास हो कि भारत में अभी भी संविधान का राज है, गुंडों का नहीं !

Udan Tashtari said...

ऐसी हरकतें अफसोसजनक हैं.

रौशन said...

वैसे ये पुलिस यहाँ क्या कर रही है बजरंगियों की जी हुजूरी?

Pt.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

बेहद अफसोसजनक.........

रंजन said...

इन पुलिस वालों ्को नौकरी से निकाल देना चाहिये..

वर्षा said...

वैसे निशाने पर कौन है, बजरंगी ब्रिगेड, या बजरंगबली।

Nakul said...

rakhi to bandhani hi chahiye..kya khule aam besarmi karna theek mante hai aap?

Ek ziddi dhun said...

काफी बेशर्म हैं मध्ययुगीन और सामंती कचरे को समाज पर लादने और कानून अपने हाथ में लेने वाले, नकुल जी..आप तय करें कि आप कहाँ हैं?

अर्चना said...

kya rakhi bandhwa dene se we man se bhi ek dusare ko bhaai bahan man lenge? yah saraasar raakhi ka majaak udaana hai.

indian said...

Bahut badhia kia sale madarchod pyar krne chale hai....

indian said...

14 febuary samaj ki sabse badi gandagi hai arey salo pyaro karo toh sirf aur sirf apne desh se apne watan se...